विश्व कैंसर दिवस 

विश्व कैंसर दिवस 
इंसान अजीब सा प्राणी नहीं लगता आपको? आज पूरा विश्व “विश्व कैंसर दिवस” मना रहा है। क्या बात है- सभी प्रकार के कैंसर अपनी-अपनी उपलब्धि बता रहे होंगे। अलग-अलग कैटेगरी में इनाम भी घोषित हो रहे होंगें।
क्या आपको किसी ने बताया कि –
(१) कैंसर शरीर के बाहर से नहीं आता?
(२) कैंसर पैदा करने वाले सेल सभी के शरीर में मौजूद हैं और इन्हीं ने हमारे शरीर का निर्माण किया है?
(३) कैंसर का एकमात्र कारण – प्रतिरोधक क्षमता की दुर्बलता है – जिसके बहुत कारण है।
(४) कीमो या रेडियेशन थिरैपी – प्रतिरोधक क्षमता को नष्ट करती हैं या दुर्बल बनाती हैं, जिससे कैंसर बढ़ने या फैलने में मदद मिलती है।
(५) फिर भी सभी कैंसर का इलाज – कीमो और रेडियेशन थिरैपी में ढूँढ रहे हैं। यही कारण है कि आजतक इसका इलाज नहीं मिला।
(६) हर परेशानी का इलाज प्रकृति में है। प्रकृति के अनुसार शरीर के रख-रखाव तथा मेंटेनेन्स का काम प्रतिरोधक क्षमता का है।
(७) कैंसर से बचने एकमात्र उपाय – प्रतिरोधक क्षमता को मज़बूत रखने या बढ़ाने से ही हो सकता है।
(८) जायरोपैथी कैंसर का इलाज प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर करती है। इस पद्धति द्वारा ठीक होने के बाद, पुनरावृत्ति की संभावना नही होती है।
(९) कैंसर से रोकथाम का एकमात्र उपाय-“प्रिवेन्टिका”, जायरोपैथी की एक अभूतपूर्व खोज है।
(१०) प्रिवेन्टिका शरीर को सिर्फ़ कैंसर ही नहीं अपितु अन्य सभी बीमारियों से बचाती है। वास्तविकता में यह आपके शरीर का सुरक्षा कवच है।
अत: जायरोपैथी अपनायें, स्वयं को स्वस्थ पायें।  मानव कल्याण के लिये सभी से शेयर करें।
अधिक जानकारी हेतु गूगल पर “ज़ायरोपैथी” सर्च करें या 9313741870 पर सम्पर्क करें।

[whatsapp]


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *