टूथपेस्ट

टूथपेस्ट – दातों का सबसे बड़ा दुश्मन

कल शाम टी वी में एक ऐड आ रहा था, कि कहीं आपके दाँत और मसूडो को आपका टूथपेस्ट तो नहीं ख़राब कर रहा?

उसके बाद उन्होंने बताया कि दांतों और मसूड़ों को स्वस्थ रखने के लिये उनका टूथपेस्ट प्रयोग करें, जिसे २६ जड़ी बूटियों के मिश्रण से बनाया जाता है।

क्या मतलब है, एक दलदल से निकाल कर दूसरे में डालने की सलाह।

वास्तविकता तो यह है कि दाँतों के लिये नीम की दातुन से बेहतर दुनिया में कोई चीज़ नहीं है।जब आप दातुन चबाते हैं, तो दाँतों में दबाव पड़ता है, जिससे दातों में ख़ून का संचार बढ़ता है,फलस्वरूप दाँत स्वस्थ बने रहते हैं। इसके अलावा नीम में प्राकृतिक एन्टीबॉयोटिक, एन्टीबैक्टीरियल, एन्टीफंगल सभी गुण मौजूद हैं।

नीम की दातून से अच्छा कोई भी टूथपेस्ट नहीं है। लगभग सभी जगह दातून मुफ़्त उपलब्ध है या फिर अधिक से अधिक १ रुपये  की। यदि बात पैसों की नहीं है, तो अपनी सोसाइटी के चौकीदार को एक रुपये प्रतिदिन दें,तो वह आपको हर दिन ताज़ी दातुन लाकर देगा। मात्र ३० रुपये प्रतिमाह में आपके दाँत सदैव स्वस्थ बने रहेंगे और आपको दाँत के डॉक्टर के पास जाने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी ।

कृपया इस प्रकार के गुमराह करने वाले विज्ञापनों से प्रभावित ना हों। ये सभी आपके नुक़सान की बात कर रहें हैं। इनकी अंदरूनी मंशा को समझने का प्रयास करिये। ये सब आपको धोखा दे रहें हैं।

दाँतों की सुरक्षा – सिर्फ़ और सिर्फ़ नीम की दातुन।

“ज़ायरोपैथी” – नये ज़माने की नई समस्याओं का विश्वसनीय उपाय।

अधिक जानकारी के लिये- www.zyropathy.com and write to us on zyropathy@gmail.com, ज़ायरोपैथी ऐप डाउनलोड करें।


Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of